Rab ko yaad karu

LYRICS:-

रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
मेरा दिलदार मिला दे ोय रब्बा

रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
मेरा दिलदार मिला दे ोय रब्बा

जब से हुयी ये लम्बी जुदाई
जब से हुयी ये लम्बी जुदाई
न चैन आया
न नींद आई
न नींद आई
नज़रें तरस गयीं आँखें बरस गईं
नज़रें तरस गयीं आँखें बरस गईं
मुझे दीदार करा दे ोय रब्बा
मुझे दीदार करा दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा

जी चाहे उसकी बाहों में झूलूं
जी चाहे उसकी बाहों में झूलूं
आँखों में देखूं
हाथों से छू लूँ
हाथों से छू लूँ
मैं हूँ बेचैन बड़ी अपने बीच कड़ी
मैं हूँ बेचैन बड़ी अपने बीच कड़ी
ये दीवार मिटा दे ोय रब्बा
ये दीवार मिटा दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा

उससे बिछड़कर यूँ जी रहा हूँ
उससे बिछड़कर यूँ जी रहा हूँ
जैसे ज़हर कोई पी रहा हूँ यूँ जी रहा हूँ
साज़दिल टूट गया नगमा रूठ गया
साज़दिल टूट गया नगमा रूठ गया
तार से तार मिला दे ोय रब्बा
तार से तार मिला दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा

करदे कुछ ऐसा तू हाल मेरा
करदे कुछ ऐसा तू हाल मेरा
आ जाए सुनकर
मेरा मसीहा
मेरा मसीहा
उस तक पहुंचे खबर ा मिलना है अगर
उस तक पहुंचे खबर ा मिलना है अगर
मुझे बीमार बना दे ोय रब्बा
मुझे बीमार बना दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
रब को याद करूँ एक फ़रियाद करूँ
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
बिछड़ा यार मिला दे ोय रब्बा
मेरा दिलदार मिला दे ोय रब्बा.

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here